Search
Close this search box.
sanskritiias

टी 20 विश्वकप में टीम इंडिया के कॉम्बिनेशन से संतुष्ट नही हूं: सरेन्द्र खन्ना-BBG NEWS

टी 20 विश्वकप में टीम इंडिया के कॉम्बिनेशन से संतुष्ट नही हूं: सरेन्द्र खन्न

झांसी- पहले एशिया कप भारतीय टीम को चैम्पियन बनाने वाले हीरो पूर्व भारतीय क्रिकेटर सुरेंद्र खन्ना ने मेजर ध्यांचन्द स्पोर्ट्स स्टेडियम में हॉकी जादूगर, वीरांगना रानी लक्ष्मी बाई और साहित्य के पुरोधा उपन्यास सम्राट बृन्दावन लाल वर्मा,राष्ट्र कवि मैथली शरण गुप्त और महावीर प्रसाद द्विवेदी की की पावन धरा को नमन करते हुए कहा कि मेरा सौभाग्य है कि आज खेल तलवार और लेखनी के मिश्रण नगर में आ कर में अभिभूत हुआ हूं।

पत्रकारों के बीच उन्होंने बेबाक अंदाज में वेस्टइंडीज और अमेरिका में संयुक्त रूप से 2 जून 2024 से होने जा रहे टी -20 विश्वकप में भारतीय टीम के चयन को लेकर अपनी राय जाहिर करते हुए कहा कि बेहतर होता कि टीम में तीन लेफ्ट आर्म की जगह एक ऑफ स्पिनर,तीन तेज गेंदबाज के साथ एक और तेज गेंदबाज व निचले क्रम में रिंकू सिंह जैसा तबडतोड़ बल्लेबाज होना चाहिए था। अभी भी BCCI चयनकर्ताओं के पास समय है और सुधार की गुंजाइश भी। तभी भारत 2024 टी 20 विश्वकप की चैम्पियन बनने की रेस में शामिल हो सकती है।

उन्होंने कहा कि छोटे फॉर्मेट के खेल में जीत का मंत्र शारीरिक फिटनेस,चपलता और पावर का कमाल होता है।

एक सवाल के जवाब में उन्होंने कहा कि आईपीएल व्यवसाय का क्रिकेट है जो भारत देश के क्रिकेटरों के अलावा विश्व के क्रिकेट खिलाड़ियों पर धन वर्षा कर रहा है और कॉरपरेट घरानों के लिए भी फायदेमंद साबित हो रहा है। भारतीय टीम को भी अपनी बेंच स्ट्रेंथ मजबूत करने और दर्शकों को भी सिनेमा की तीन धंटे का ये शो रोमांचित करता है।

वही उन्होंने हॉकी के जादूगर मेजर ध्यान चंद्र को भारत रत्न का पहला हकदार बताया है। उन्होंने कहा कि मेरे हाथ में होता तो सबसे पहले मेजर ध्यानचंद को ही भारत रत्न देता। उन्होंने महेंद्र सिंह धोनी को महान खिलाड़ी बताया।

उन्होंने कहा पहले बिना पैसे की लालच व संसाधनों के खिलाड़ी जी जान लगा कर खेलते थे। लेकिन अब खिलाड़ी आईपीएल में बड़े घरानों के हाथो खरीद फरोख्त बनता जा रहा है। वही उन्होंने कहा कि हॉकी के जादूगर मेजर ध्यानचंद भारत रत्न के पहले हकदार है, क्योंकि उन्होंने बिना संसाधनों के भारत का डंका पूरे देश में बजाया था. वही इनके साथ आए बिहार क्रिकेट एसोसिएशन की बीसीसीआई से लड़ाई लड़ने वाले आदित्य वर्मा ने उत्तर प्रदेश में चार एसोसिएशन की मांग उठाई। मेजर ध्यानचंद स्टेडियम में दोनो का क्षेत्रीय क्रीड़ा अधिकारी सुरेश बोन कर, बृजेंद्र यादव सचिव जिला क्रिकेट संघ झांसी, संजीव सरावगी, सुनील शर्मा आदि मौजूद रहे।

BBG News
Author: BBG News

Leave a Comment

  • buzzopen
  • buzz4ai
  • digitalconvey
  • marketmystique




यह भी पढ़ें